रावलपिंडी टेस्ट में पाकिस्तान की हार ने भारत के लिए मार्ग किया आसान, जानिए डब्ल्यूटीसी फाइनल में पहुंचने का समीकरण

/
Advertisement
  • पहले टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ पाकिस्तान की हार ने भारत को विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिए क्वालीफाई करने की दौड़ में आगे खड़ा कर दिया है।

  • बाबर आजम की अगुवाई वाली टीम को रावलपिंडी टेस्ट में 74 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

रावलपिंडी टेस्ट में पाकिस्तान की हार ने भारत के लिए मार्ग किया आसान, जानिए डब्ल्यूटीसी फाइनल में पहुंचने का समीकरण
पाकिस्तान की हार ने भारत के लिए मार्ग किया आसान (फोटो : ट्विटर)
Advertisement

पाकिस्तान के खिलाफ रावलपिंडी टेस्ट में बेन स्टोक्स द्वारा इंग्लैंड की दूसरी पारी 264रनो पर घोषित करने का फैसला मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ और अंग्रेजी टीम ने पहले टेस्ट में पाकिस्तान के खिलाफ यादगार जीत दर्ज की।

बता दें, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने पहली पारी में 657 रन बनाए। इस दौरान इंग्लिश टीम के चार बल्लेबाजों ने शतक जड़े। इनमें जैक क्राउली (122), बेन डकेट (107), ओली पोप (108) और हैरी ब्रुक (153) शामिल हैं।

जवाब में पाकिस्तान ने अपनी पहली पारी में 579 रन बनाए। अब्दुल्ला शफीक ने 114 रन, इमाम उल हक ने 121 रन और कप्तान बाबर आजम ने 136 रन की पारी खेली। इस तरह दूसरी पारी में इंग्लैंड 78 रन के बढ़त के साथ मैदान पर उतरी। इंग्लैंड ने दूसरी पारी में सात विकेट पर 264 रन बनाकर पारी घोषित कर दी। जो रूट ने 73 रन और हैरी ब्रुक ने 87 रन की पारी खेली। वहीं, जैक क्राउली ने 50 रन बनाए। इस तरह इंग्लिश टीम को कुल 342 रन की बढ़त हासिल हुई।

अंतिम दिन, पाकिस्तान की ओर से इमाम उल हक और सऊद शकील ने चौथे विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी की, जिसके बाद शकील ने मोहम्मद रिजवान के साथ पांचवें विकेट के लिए 87 रन और जोड़े। लेकिन इंग्लिश गेंदबाज नियमित अंतराल पर विकेट झटकते रहे और मेजबान टीम को अंततः 268 रन पर आउट कर दिया गया, जिसमें जेम्स एंडरसन और ओली रॉबिन्सन ने चार-चार विकेट लिए।

पाकिस्तान के लिए, यह हार निश्चित रूप से दिल तोड़ने वाली थी चूँकि इससे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) 2021-23 के फाइनल में जगह बनाने की उनकी संभावनाओं को एक बड़ा झटका लगा, साथ ही दिलचस्प रूप से भारत की संभावनाओं को बढ़ाया है।

बता दें कि इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला की शुरुआत से पहले पाकिस्तान डब्ल्यूटीसी अंक तालिका के पांचवें स्थान पर थी। फाइनल के लिए क्वालीफाई करने का एक वास्तविक अवसर था क्योंकि बाबर आज़म के नेतृत्व वाली टीम को इंग्लैंड के खिलाफ घर में तीन टेस्ट और न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट खेलने थे। हालाँकि, इंग्लिश टीम के खिलाफ रावलपिंडी टेस्ट में मिली हार के कारण डब्ल्यूटीसी फाइनल में पहुंचने के समीकरण बदल गए हैं।

पाकिस्तान अभी भी अंक तालिका में पांचवें स्थान पर है, हालांकि ऑस्ट्रेलिया या भारत के लिए अपनी आगामी टेस्ट श्रृंखला में जीत से पाकिस्तान की संभावना समाप्त हो जाएगी। अगर भारत अपने आगामी दो मैचों के चरण में बांग्लादेश को क्लीन स्वीप करता है, तो वे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर में कम से कम एक टेस्ट हारने का जोखिम उठा सकता है और फिर भी उसके पास फाइनल में जगह बनाने का मौका होगा। इसी तरह, अगर ऑस्ट्रेलिया वेस्टइंडीज को व्हाइटवॉश करता है और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने दो टेस्ट जीतता है, तो उसके पास भी फाइनल में जगह बनाने का रास्ता खुल जाएगा।

टैग: , ,

श्रेणी: भारत

लेखक के बारे में:
टी-20 के दौर में टेस्ट के दीवाने.. विराट कोहली के बड़े प्रशंसक...बाकी स्पोर्ट्स जर्नलिज्म के बारीकियों को समझने समझाने में व्यस्त।अभिनय से संपर्क करने के लिए abhinay.pratap@crickettimes.com पर ईमेल करें।
Advertisement